Latest News

  • 207

    आने वाले दिनों में बच्चों की पढ़ाई का खर्च कम होने के साथ घर बनाना सस्ता होने के आसार हैं। 21 जुलाई को होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में  स्टेशनरी  उत्पादों पर जीएसटी की दरें घटाने का फैसला हो सकता है। इसके साथ सीमेंट और पेंट पर लगने वाले जीएसटी की दरें भी घटने की चर्चा है।

    जानकारों के मुताबिक, 28 फीसदी के स्लैब में आने वाले कई उत्पाद 18 फीसदी के स्लैब में आ जाएंगे। इससे इन सामानों की कीमतें घटेगी। स्टेशनरी उत्पादों पर जीएसटी के 5, 12 और 18 फीसदी के तीन स्लैब हैं। इसमें 18 और 12 फीसदी जीएसटी वाले उत्पादों पर रेट कम हो सकते हैं।  

    स्टेशनरी  व्यापार मंडल के अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह चैहान के मुताबिक,  स्टेशनरी में चार हजार से ज्यादा आइटम हैं। इन पर 0 से लेकर 18 फीसदी तक टैक्स है। इससे कारोबारियों को भी पूरा हिसाब रखने में परेषानी होती है। टैक्स कम करने के लिए व्यापारी ऑल इंडिया स्तर पर एक साल से केंद्र सरकार से बात कर रहे हैं। प्रस्ताव के मुताबिक, 18 फीसदी जीएसटी वाले प्रॉडक्ट अब 12 फीसदी जीएसटी की श्रेणी में आ जाएंगे। इससे 100 रुपये लागत वाले सामान की खरीदारी पर लोगों को छह रुपये की बचत होगी। 

    Wed, 18/07/2018

Pages